सदगुरु कृपा से जब संसार की उपाधियों से थका हुआ जीवात्मा सम्पूर्ण शरणागत हो जाता है, तो उसका कल्याण हो जाता है

सदगुरु कृपा से जब संसार की उपाधियों से थका हुआ जीवात्मा सम्पूर्ण शरणागत हो जाता है, तो उसका कल्याण हो जाता है