स्वर्ग और मोक्ष के सब सुख, क्षण मात्र के सत्संग के सुख के बराबर नहीं हो सकते

स्वर्ग और मोक्ष के सब सुख, क्षण मात्र के सत्संग के सुख के बराबर नहीं हो सकते