सभी कार्य करते हुए जिसके ह्रदय में मंगलमय स्वरुप श्री हरी बिराजमान होते है उसका कभी अमंगल – अशुभ हो ही नहीं सकता ।

सभी कार्य करते हुए जिसके ह्रदय में मंगलमय स्वरुप श्री हरी बिराजमान होते है उसका कभी अमंगल – अशुभ हो ही नहीं सकता ।